(Lapata Ladies Film Review) लापता लेडीज फिल्म रिव्यु

लापता लेडीज एक बेहद साफ़ सुथरी और समाज को जागरूक करती हुई एवं ग्राम्य परिवेश के कुछ ज्वलंतशील मुद्दों को उठाती हुई बेहद साफ़ सुथरी फिल्म है।

(Lapata Ladies Film Review) लापता लेडीज फिल्म रिव्यु


किरण राव द्वारा निर्देशित फिल्म लापता लेडीज को  Imdb 8.2 की रेटिंग मिली है। बात करें फिल्म की तो ये अपनी इस कहानी के माध्यम से लोगों को दिलों को छु जाने वाली कहानी है।  बिना अश्लीलता के समाज में एक अच्छा सन्देश देती हुई बेहद सामाजिक फिल्म है। आइये जानते है Lapta Ladies के विषय में कुछ ऐसी बाते जो आपको जानना बेहद आवश्यक है। 

लापता लेडीज एक बेहद साफ़ सुथरी और समाज को जागरूक करती हुई एवं ग्राम्य परिवेश के कुछ ज्वलंतशील मुद्दों को उठाती हुई बेहद साफ़ सुथरी फिल्म है।  

लापता लेडीज की कहानी ( Story Of Lapta Ladies )

फिल्म की कहानी दो नई नवेली दुल्हनों के इर्द-गिर्द घूमती है, जो एक ही ट्रेन में सफर कर रही होती हैं. दोनों के चेहरों पर घूंघट होता है और गलती से दोनों किसी और स्टेशन पर उतर जाती हैं. इसके बाद शुरू होता है उनका हंगामाखेज भरा सफर, जिसमें वो अकेली बिगड़ते हालातों का सामना करती हैं. रास्ते में उनकी मुलाकात कई तरह के लोगों से होती है और वो कई तरह के अनुभव बटोरती हैं.

वैसे तो कहानी में ठहराव के साथ काफी दम है, परन्तु ये समझने वाली बातें हैं।  अगर आपको ज्यादा मार-धाड़ वाली फिल्मे पसंद है, या फिर आप ज्यादा रोमांटिक फिल्मे पसंद करते हैं. तो ये फिल्म आपके लिए नहीं है।  यह फिल्म एक शुद्ध भारतीय पारिवारिक फिल्म है।  

अश्लीलता भरे फिल्मों के बीच एक पारिवारिक और बेहद धीमी गति से उठती हुई बहुत ही शानदार और उम्दा कहानी के साथ इस कहानी को परिवार के साथ जरूर देखना चाहिए।  

लापता लेडीज की समीक्षा ( Review of Lapta Ladies )

फिल्म की खास बात ये है कि सामाजिक मुद्दों को थोड़ा अलग अंदाज में पेश किया गया है. फिल्म में दहेज प्रथा, लैंगिक असमानता, और महिलाओं की आत्मनिर्भरता जैसे मुद्दों को छुआ गया है. वहीं, कॉमेडी के ज्यादा दृश्य आपको इस फिल्म में देखने को नहीं मिलेंगे।  इमोशनल स्टोरी के साथ-साथ इस फिल्म में एक बेहद ख़ास मैसेज छुपा हुआ है जिसे हर भारतीय जो ग्राम्य परिवेश का है वो अपने आप को जुड़ा हुआ महसूस करेगा।   

कलाकारों का अभिनय 

फिल्म में नई कलाकारों ने अच्छा अभिनय किया है. नितांशी गोयल और प्रतिभा रांटा की जोड़ी काफी जमती है और उनकी कॉमिक टाइमिंग कमाल की है. रवि किशन का किरदार भी फिल्म में जान डाल देता है.

निर्देशन ( Direction Of Lapta Ladies ) 

किरण राव के निर्देशन में फिल्म काफी अच्छी बनी है. कहानी को सरलता से पेश किया गया है और फिल्म की pace भी अच्छी है. कुल मिलाकर "लापता लेडीज" एक entertaining फिल्म है जो हंसाती भी है और सोचने पर भी मजबूर करती है. अगर आप एक हल्की-फुल्की और सार्थक फिल्म देखना चाहते हैं तो ये फिल्म आपके लिए अच्छी साबित हो सकती है.